Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़: एक सच्ची प्रेरणा - Aawaz India News
  • Tue. May 21st, 2024

Aawaz India News

सत्य आपके सामने

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़: एक सच्ची प्रेरणा

Byadmin

Oct 20, 2023
Rajyavardhan Singh Rathore

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़: एक सच्ची प्रेरणा

 

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ एक सेवानिवृत्त भारतीय सेना कर्नल और डबल ट्रैप शूटिंग में ओलंपिक रजत पदक विजेता हैं। उनका जन्म 29 जनवरी 1967 को जयपुर, राजस्थान में हुआ था। राठौड़ की शिक्षा मेयो कॉलेज, अजमेर और राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला में हुई। उन्हें 1989 में भारतीय सेना में नियुक्त किया गया था।

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने अपने निशानेबाजी करियर की शुरुआत 1994 में की थी। वह तेजी से आगे बढ़े और 1997 में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया। उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय पदक, कांस्य, 1998 में बार्सिलोना में विश्व चैंपियनशिप में जीता। राठौड़ ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में कई और पदक जीते, जिसमें 2004 में दोहा में एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक भी शामिल था।

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की सबसे बड़ी उपलब्धि एथेंस में 2004 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में आई, जहां उन्होंने डबल ट्रैप शूटिंग में रजत पदक जीता। वह निशानेबाजी में ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने। राठौड़ की जीत भारतीय खेल के लिए एक बड़ा क्षण था और इसने निशानेबाजों की नई पीढ़ी को प्रेरित किया।

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ने राजनीति में अपना करियर बनाने के लिए 2013 में सेना से संन्यास ले लिया। वह 2014 में भारतीय संसद के निचले सदन लोकसभा के लिए चुने गए। उन्होंने 2014 से 2019 तक सूचना और प्रसारण और युवा मामले और खेल राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया।

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़एक सच्ची प्रेरणा हैं. वह हर जगह एथलीटों और खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श हैं। वह एक सफल राजनीतिज्ञ और युवाओं के लिए आदर्श भी हैं।

 

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़का शूटिंग करियर

 

राठौड़ ने अपने निशानेबाजी करियर की शुरुआत 1994 में की थी। वह तेजी से आगे बढ़े और 1997 में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया। उन्होंने अपना पहला अंतरराष्ट्रीय पदक, कांस्य, 1998 में बार्सिलोना में विश्व चैंपियनशिप में जीता। राठौड़ ने अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में कई और पदक जीते, जिसमें 2004 में दोहा में एशियाई चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक भी शामिल था।

राठौड़ की सबसे बड़ी उपलब्धि एथेंस में 2004 के ग्रीष्मकालीन ओलंपिक में आई, जहां उन्होंने डबल ट्रैप शूटिंग में रजत पदक जीता। वह निशानेबाजी में ओलंपिक पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने। राठौड़ की जीत भारतीय खेल के लिए एक बड़ा क्षण था और इसने निशानेबाजों की नई पीढ़ी को प्रेरित किया।

राठौड़ ने 2011 में प्रतिस्पर्धी शूटिंग से संन्यास ले लिया। वह अब युवा निशानेबाजों के गुरु हैं और भारत में शूटिंग को बढ़ावा देने में शामिल हैं।

 

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़का राजनीतिक करियर

 

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने राजनीति में अपना करियर बनाने के लिए 2013 में सेना से संन्यास ले लिया। वह 2014 में भारतीय संसद के निचले सदन लोकसभा के लिए चुने गए। उन्होंने 2014 से 2019 तक सूचना और प्रसारण और युवा मामले और खेल राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया।

राठौड़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य हैं। वह अपने बेबाक विचारों और सामाजिक कल्याण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते हैं। वह युवाओं के बीच एक लोकप्रिय व्यक्ति हैं और उन्हें भाजपा के भावी नेता के रूप में देखा जाता है।

 

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ की विरासत

 

राठौड़ एक सच्ची प्रेरणा हैं. वह हर जगह एथलीटों और खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श हैं। वह एक सफल राजनीतिज्ञ और युवाओं के लिए आदर्श भी हैं।

2004 ओलंपिक में राठौड़ की जीत भारतीय खेल के लिए एक बड़ा क्षण था। इसने निशानेबाजों की एक नई पीढ़ी को प्रेरित किया और दिखाया कि भारतीय विश्व मंच पर उच्चतम स्तर पर प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं। राठौड़ की विरासत आने वाली पीढ़ियों तक एथलीटों और खिलाड़ियों को प्रेरित करती रहेगी।

 

यहां कुछ तरीके दिए गए हैं जिनसे Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने दूसरों को प्रेरित किया है:

उन्होंने दिखाया कि भारतीय विश्व मंच पर उच्चतम स्तर पर प्रतिस्पर्धा कर सकते हैं।
उन्होंने निशानेबाजों की नई पीढ़ी को प्रेरित किया।
वह हर जगह एथलीटों और खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श हैं।
वह एक सफल राजनीतिज्ञ और युवाओं के लिए आदर्श हैं।
वह अपने बेबाक विचारों और सामाजिक कल्याण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते हैं।

निष्कर्ष

Rajyavardhan Singh Rathore राज्यवर्धन सिंह राठौड़ एक सच्ची प्रेरणा हैं। वह हर जगह एथलीटों और खिलाड़ियों के लिए एक आदर्श हैं। वह एक सफल राजनीतिज्ञ और युवाओं के लिए आदर्श भी हैं। राठौड़ की विरासत आने वाली पीढ़ियों तक लोगों को प्रेरित करती रहेगी।

 

यह भी पढ़े:- https://aawazindia.com/organized-a-meeting-to-make-the-huge-blood-donation-camp-a-success/

यह भी पढ़े:- https://aawazindia.com/nukkad-natak-nukkad-natak-organized-by-ultratech-cement-chohtan/

यह भी पढ़े:-https://aawazindia.com/union-minister-nitin-gadkari-announced-the-driver-waved/

यह भी पढ़े:-https://aawazindia.com/tata-motors-may-launch-small-electric-car/

यह भी पढ़े:https://aawazindia.com/krishna-birth-celebration-on-the-fourth-day-of-shrimad-bhagwat-katha/

यह भी पढ़े:https://aawazindia.com/vastu-tips-are-you-running-due-to-financial-constraints-do-these-5-measures-related-to-bathing-water-then-see-amazing/

यह भी पढ़े :- जबरदस्त अंदाज में होगी नई Mahindra Scorpio की एंट्री, इसी महीने लॉन्च होगी SUV

यह भी पढ़े:- 32 km/kg तक का शानदार माइलेज देती है ये शानदार CNG कारें, कीमत है 6 लाख रुपए से कम

यह भी पढ़े:- Maruti Alto 800 कार सिर्फ 50000 रुपये में घर ले जाये , जानिए कहां से और कैसे

यह भी पढ़े:- आसान ईएमआई के साथ 1.9 लाख रुपये में Maruti Swift खरीदें, 7 दिन की मनी बैक गारंटी

 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए –

आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Whatsapp से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़  के समाचार ग्रुप Telegram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Instagram से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Youtube से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप को Twitter पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Facebook से जुड़े
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप ShareChat पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Daily Hunt पर फॉलो करें
आवाज़ इंडिया न्यूज़ के समाचार ग्रुप Koo पर फॉलो करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *